नवजोत सिंह सिध्धू की पाकिस्तान यात्रा हुयी सफल, भारत को पकिस्तान सरकार ने दिया ख़ास तोहफा

कुछ दिनों पहले जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का इस्लामाबाद में पथ ग्रहण समारोह था| जब भारत के कुछ कांग्रेस नेता और पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिध्धू भी वहां पहुंचे हुए थे| जिसे लेकर भारत की जनता और मीडिया में भी काफी हंगामा मचा हुआ था| भारतीय मीडिया ने सिध्धू के पकिस्तान जाने पर बहुत हंगामा किया था| हालांकी इससे पूर्व में भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी भी तत्कालीन पीएम नवाज शरीफ की नतिनी की शादी में हिस्सा लेने पाकिस्तान पहुंचे हुए थे|

सिक्खों के लिए ख़ास खबर

लेकिन इस बार जब नवजोत सिंह सिद्ध जब पाकिस्तान अपने दोस्त इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में पहुंचे तो भारतीय मीडिया ने उनके साथ इस प्रकार का व्यवहार किया गया जैसे वे देशद्रोही हों| पाकिस्तान में स्थित लाहौर शहर से थोड़ी ही दूरी पर स्थित तलवंडी में सिक्ख कौम का सबसे बड़ा ननकाणा साहिब का तीर्थस्थल स्थित है| और ऐसा बताया जाता है| की इसी स्थान पर सिक्ख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव जी का जन्म 1469 ईस्वी में हुआ था| सन् 2019 में वहां गुरु नानक देव का 550वां प्रकाशोत्सव मनाया जायगा|

विना वीजा के गुरुद्वारा दर्शन की मांग

नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तान की सर्कार से मांग थी| कि इस शुभ अवसर, गुरुपर्व के मौके पर भारत पाकिस्तान के करतारपुर रूट को खोल दिया जाये|जिससे की भारतीय सिक्ख समुदाय को भी बिना किसी रूकावट के गुरुद्वारा करतारपुर के दर्शन करने का मौंका मिले|

पाकिस्तान सरकार ने अपनी सहमति जताई

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने करतारपुर रूट खोलने के लिए सहमति प्रदान कर दी है| अब इन्तजार है भारत सरकार को अपना रुख साफ़ करने का| नवजोत सिंह सिद्धू ने भारत सरकार से एक कदम और बढाने की मांग की है|

सिद्धू ने किया इमरान खान का शुक्रिया अदा

इमरान खान की सहमति मिलने के बाद. नवजोत सिंह सिद्धू ने किया उनका दिल से शुक्रिया अदा| और कहा की यह तोहफा है हमारे लिए इसकी तारीफ़ करने के लिए मेरे पास कोई शब्द नहीं हैं| इमरान खान के इस फैंसले से होगा काफी सिक्खों का भला और मिलेगा गुरुद्वारा करतारपुर के दर्शन करने का मौंका|

इमरान खान और पाकिस्तानी हुकूमत को लेकर दोनों देशों में काफी शान्ति का माहौल उत्पन्न होगा| और आगे इसी तरह के दोनों देश समझौता करते रहे इसी में दोनों देशों की भलाई है|

Facebook Comments