सऊदी में पहली बार किसी महिला का सिर कलम किया जाएगा? देखें आखिर क्या है वजह

सऊदी अरब में पहली बार किसी महिला का सिर कलम करके उसे मौत की सजा दी जाएगी। आइए जानते हैं इसके बारे में। जिस महिला का सिर कलम करके मौत की सजा दी जाने वाली है। उस महिला की उम्र 29 साल है। इस महिला पर आरोप है कि उसने सरकार के खिलाफ प्रदर्शनों को बढ़ावा दिया है।

इसी महीने रियाद की विशेष अपराधिक अदालत में सुनवाई के दौरान सऊदी अरब के सरकारी वकील ने पूर्वी प्रांत से आने वाली पांच मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की मौत की सजा देने की मांग की थी। जीनमें 29 साल की इसरा अल-घोघम भी शामिल है।

29 साल की इसरा और उनके पति को सरकार के खिलाफ प्रदर्शनों को बढ़ावा देने के आरोप में दिसंबर 2015 में गिरफ्तार किया गया था। रियाद की कोर्ट ने इस मामले में इसरा को मौत की सजा दी हैं।

यूरोपियन सऊदी ऑर्गनाइजेशन फॉर ह्यूमन राइट्स का कहना है कि इसरा को राजनीतिक कैदियों की रिहाई और सरकार के शिया विरोधी भेदभाव का विरोध करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। सऊदी सरकार के अधिकारियों ने इस मामले पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

सोशल मीडिया पर इस खबर के फैलने के बाद दुनिया का ध्यान इस मामले पर गया है। वही संयुक्त राष्ट्र संघ ने भी सऊदी सरकार के इस फैसले की कड़ी निन्दा की है।

मानवाधिकार कार्यकर्ता इस फैसले के खिलाफ अपील कर चुके हैं। जिस पर अदालत का फैसला अक्टूबर तक आने की संभावना है। अगर आरोपियों को अदालत से राहत नहीं मिलती है तो फिर उन को मौत की सजा मिलना तय है।

Facebook Comments