यूसुफ बना कृष्ण, तो मां ने दिया ऐसा बयान की नफरत फैलाने वालों की हो गयी बोलती बंद

हजारीबाग| हमारे देश में 250 से ज्यादा बोलियाँ और भाषाएँ बोली जाती हैं| और इतना सब कुछ होने के बावजूद भी हमारा हिन्सुस्तान अनेकता में एकता का सन्देश देता है| हम सभी भारतीय लोग आपस में एक दुसरे से मिलकर रहते हैं| हाँ लेकिन कुछ नफरत फैलाने वाले मुठ्ठी भर लोग कभी कभी सामने आ जाते हैं और हमारी ये एकता ही है जो इनको मुहं की खाने पर मजबूर कर देती है| ऐसा ही कुछ नज़ारा देखने को मिला हजारीबाग में जहाँ युसूफ ने कृष्ण का अवतार धारण किया|

नफरतों के इस दौर में एक मुस्लिम परिवार ने ऐसा सन्देश दिया है जिससे नफरत फ़ैलाने वालों के मुहं में दही जम गया है| आपको बता दें की संस्कार भारती द्वारा नगर भवन में आयोजित हुयी एक श्री कृष्ण रूप बाल सज्जा प्रतियोगिता में इस मुस्लिम परिवार ने भाग लिया था|

इस प्रतियोगिता के ज़रिये जो समाज में सन्देश गया वो वाकई में बहुत काबिलेतारीफ था| और ये भी खूब बात रही कि श्री कृष्ण के बाल रूप का इसको सम्मान ही कहा जाएगा कि प्रतियोगिता में एक नहीं वाल्की छह मुस्लिम बच्चों ने अपने परिवार के साथ इस श्रीकृष्ण प्रतियोगिता में न केवल भाग लिया उनके सारे परिवार के लोग भी इसमें शामिल होने के लिए आये|

जन यूसुफ़ के माता पिता पूरे सम्मान के साथ उनके श्रीकृष्ण बने बेटे को लेकर आये तो मथूरा और वृदावन बन चुका शहर का ये नगर भवन तालियों से गूंज उठा| श्रीकृष्ण प्रतियोगिता में शामिल होने वाले बच्चों में मो. फैजान आलम पिता मो.सिकंदर आलम सरदार रोड, सना परवीन पिता मो. शब्बीर हुसैन मटवारी, फरहान रजा पिता मो. मसिउज्जमंा , मो. युसूफ पिता मो. रफीक हाशमिया कालोनी, जिशान आलम पिता मो. सिकंदर आलम तथा विशाल पिता मो.सिकंदर आलम है|

मो. युसूफ को चार से सात वर्ष उम्र की प्रतियोगिता में तीसरे स्थान पर रहा। वहीं उसकी मां नफीसा स्वंय मंच पर आकर श्रीकृष्ण को बासुरी वादन की तरीके बता रही थी| यह वास्तविक में सामाजिक सौहाद्र का मिसाल था|

पिता सिकंदर ने अपने तीनों बेटे को बनाया श्री कृष्ण

शहर के नगर भवन में आयोजित प्रतियोगिता में एक और शख्स की चर्चा होती रही और इस शख्श को नगर भवन में तालियों की गड़गड़ाहट के सम्मान से नवाज़ा गया| ये शख्स सरदार चौक रोड निवासी मो. सिकंदर आलम थे जो अपने तीनों पुत्रों को इस प्रतियोगिता के लिए लेकर आए थे| एक मुस्लिम व्यक्ती की श्री कृष्ण के प्रति उनकी दिवानगी और मनमोहक बच्चों की अदा ने लोगों को भाव विभोर कर दिया|

Facebook Comments