मुस्लिमों की दरियादिली देख केरल के पादरी बोले शुक्रिया, आपने जो एहसान किया वो ज़िंदगी भर नहीं भूलूंगा

केरल में हाल ही में भयंकर आई बाढ़ से तबाही ने कई लोगों की जिंदगियों को खासा प्रभावित किया है| इससे जन धन दोनों का भारी नुकसान केरल को उठाना पड़ा है| हालांकी कई देश इनको सहायता देने के लिए आगे आये हैं| लेकिन केरल में राहत का काम अभी भी जारी है| केरल के बाढ़ पीडितो की जिन्दगी को सामान्य करने में देश के साथ साथ विदेश से भी सहायता ली जा रही है| देश भर के कई लोगों द्वारा बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत सामग्री केरल भेजी जा रही है इसके आलावा विदेशों से भी मदद प्राप्त हो रही है|

इंसानियत जिंदाबाद, मुसीबत के समय हमें एक होना चाहिए

पसरी ने मुस्लिमों का दिल से किया शुक्रिया

इसी बीच केरल के एक पादरी ने मुस्लिमों का शुक्रिया अदा किया है| एक चर्च में बोलते हुए उन्होने बताया कि बाढ़ के समय उन्होंने बाढ़ पीड़ितों को चर्च में ठहरने के लिए जगह दी है साथ ही उनके खाना पीना का इंतजाम भी यही किया गया था. लेकिन एक दो दिन के बाद ही हमारे पास मौजूद सामग्री ख़त्म हो गई|

इससे चर्च में ठहरे 500 लोगों को भोजन उपलब्द करना एक चुनौती हो गया. इसी को देखते हुए उन्होंने पास में स्थित एक मस्जिद में जाकर मदद के लिए गुहार लगाई. उन्होंने मस्जिद के मौलवियों से बात की इसके बाद मस्जिद में नामज़ ख़त्म होने के बाद बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए अनुरोध किया गया|

बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आए आगे

इसके बाद मस्जिद और मुस्लिम समुदाय के कई लोग राहत सामग्री के साथ चर्च पहुंचे और बाढ़ पीड़ितों की मदद की. इसी को लेकर पादरी ने कहा कि जिस तरह मुस्लिमों ने निस्वार्थ के साथ बाढ़ पीड़ितों की मदद की उनके लिए मैं उनका दिल से शुक्रिया अदा करता हूँ|

साथ ही उन्होंने कहा कि मैं उनके प्रति कृतज्ञता क शब्दों के जरिए बयां नही कर सकता हूँ. उन्होंने बताया कि मुस्लिम समुदाय की ओर से बाढ़ पीड़ितों के लिए खाने पीने के आलावा दवाइयों का भी इंतजाम किया गया था. आपको बता दें कि बकरीद पर भी लोगों ने कुर्बानी का पैसा बाढ़ पीड़ितों की राहत के लिए दान कर दिया था|

गौरतलब है कि बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए कई हिन्दू संगठनों द्वारा शर्त रखते हुए कहा गया था कि वह उसी को सहायता देगे तो बीफ न खाने का वादा करेगा. लेकिन दूसरी तरह मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा बिना किसी स्वार्थ और शर्त के सभी बाढ़ पीड़ितों की मदद की गई थी|

Facebook Comments