विडियो: हिन्दू संगठनों ने मस्जिद को करवाया सील, बेबस हुए मुस्लिम कोई सुनवाई नहीं

यह मामला हरियाणा के गुरुग्राम जिले का है| यहाँ पिछले कई दिनों से बहुत ही ऐसे मामले देखनो को मिल रहे हैं| जो की बिलकुल थमते नज़र नहीं आ रहे हैं| अब यहाँ एक ऐसा विवाद खड़ा हो लाउडस्पीकरों के चलते एक बहुत बड़ा मामला सामने आया हुआ है| यहाँ पिछले कुछ दिनों से यहाँ का माहौल काफी गर्माया हुआ है| और वहां के कुछ हिन्दू संघठनों ने भी पुलिस स्टेशन जाकर अपनी शिकायत दर्ज कराई| उनका कहना है| की यह कोई मस्जिद नहीं है, यह एक घर था| जिसे अब मस्जिद के रूप में इतेमाल किया जाने लगा है|

प्रशासन ने मस्जिद को किया सील

हालांकी इस तरह का विवाद काफी दिनों से चल रहा था, मुस्लिम समुदाय के लोग वह पहले से ही नमाज़ अदा करते आ रहे हैं| लेकिन यह बात कुछ असामाजिक तत्वों को नागवार गुज़र रही है| इससे पहले भी एक दो बार इसी बात को लेकर हंगामा हुआ था| लेकिन अब इस विवाद ने बड़ा रूप ले लिया है|

हिन्दू संघठनों द्वारा की हुई शिकायत को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने मस्जिद को सील करने का आदेश दे दिया है| हिन्दू संघठनों का कहना है, की यह कोई मस्जिद नहीं थी| यह एक खाली मकान था| जिसके आज कल मस्जिद का नाम दिया जा रहा है, और मस्जिद के रूप में इसे बनाने की कोशिश की जा रही है|

हिन्दू संघठनों ने पुलिस में जाकर कई बार शिकायत दर्ज करी थी| उनकी यह भी मांग थी की जल्दी से जल्दी इस मस्जिद को सील किया जाये| हिन्दू संघठनों का यह भी कहना था| की बिल्डिंग की छत पर लगे लाउडस्पीकर से  शीतल कॉलोनी वालों को अत्यंत ही समस्या का सामना करना पड़ रहा है| हलाकि, फ़िलहाल में इस मामले की गरमाई की वजह से पुलिस प्रशासन ने उस जगह सुरक्षा बल तैनात कर दिए हैं| और वहां की सुरक्षा पर जायदा बल दिया जा रहा है|

हिन्दू संगठनों का कहना है

हिन्दू संघठनों का यह भी कहना है, की यह मस्जिद नियमों का उलंघन करने के बाद बनी है| जिस पर किसी ने ध्यान नहीं दिया| इस वजह से हमें ध्यान देना पड़ रहा है| हमारी यह मांग है इस मस्जिद को या तो सील कर दिया जाए या फिर दूसरी जगह शिफ्ट कर दी जाए|

हिन्दू संघठनों की इस शिकायत की वजह से मुस्लिम समुदाय द्वारा भारी नाराज़गी जताई जा रही है| इस वजह से वहां साम्प्रदायिक तनाव होने की भी संभावनाएं हैं| जिसको ध्यान में रखते हुए पुलिस प्रशासन ने उस जगह अपने सुरक्षाकर्मी तैनात कर दिए हैं|

Facebook Comments