तुर्की के राष्ट्रपति तय्यब एर्दोगान पर हमले की साज़िश, खुफिया विभाग ने जारी किया अलर्ट

रजब तैय्यब अर्दोगान तुर्की के राष्ट्रपति को सारी दुनिया में प्रसिध्धी मिली हुयी है, और ये खासतौर से तब से और भी ज्यादा चर्चित चेहरा बने हुए हैं जब दुनिया का कोई भी देश रोहिंग्या मुसलमानों को दरकिनार कर रहा था| सबसे पहले अर्दोगान ने ही मसीहा बनकर इन लोगों की मदद के लिए पहल की थी| जिसके बाद से दुसरे देश भी एक एक करके कुछ न कुछ रोहिंग्या मुसलामनों के लिए मदद भेजने लगे थे| आपको बता दें उसी वक़्त से अर्दोगान सोशल मीडिया पर मुसलमानों के महीसा के नाम से जाने जाते हैं|

संकट के बावजूद भी झुके नहीं अर्दोगान

अभी तुर्की पर भी बहत संकट आया हुआ है| अमेरीका तुर्की को झुकाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है| लेकिन तय्यब एर्दोगान की पकड़ दुनिया भर में लगातार बढ़ती जा रही है, इसकी वजह से अमेरीका बोखलाया हुआ है| तय्यब एर्दोगान दुनिया भर के मुसलमानों के लिए एक उम्मीद बनते जा रहे है| विश्वभर में उनकी ताकत दिनों दिन बढती जा रही है| अब तो कुछ देशों ने भी तुर्की को खुलकर समर्थन दे दिया है, और अमेरीका को चेताया है कि इस तरह से वो दुनियाभर में अपनी मनमानी नहीं कर सकता|

तुर्की के खिलाफ बगावत की कोशिश नाकाम

तय्यब एर्दोगान की बढती हुई ताकत से कई मुस्लिम विरोधी शक्तियाँ बेचैन हो रही हैं| ये मुस्लिम विरोधी शक्तियों तय्यब एर्दोगान को प्रत्येक स्तर पर नाकाम करने के लिये साज़िश रच रही हैं| कुछ सालों पहले भी तुर्की के खिलाफ बगावत करने कोशिश की गई थी इतना ही नहीं सेना द्वारा बगावत फैलाने की कोशिश भी हुई थी| फिर एक लम्बे अंतराल के बाद इस साल बीते दिनों भी तुर्की का तख्तापलट करने की कोशिश की गयी थी, जिसमे कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है|

तुर्की के राष्ट्रपती तय्यब एर्दोगान की बढ़ती ताकतों से चलते उनके खिलाफ कई तरफ की साजिश हो रही है, इस तरह की आशंका जताई जा रही है. तुर्की के राज्यों की ख़ुफ़िया विभाग को प्राप्त जानकारी के अनुसार तय्यब एर्दोगान पर जानलेवा हमलों की साजिश बड़े स्तर पर हो रही है| इसी बात को लेकर खुफिया विभाग ने पुरे देश में अपने सोर्स को अलर्ट कर दिया है|

दुनियाभर में मुसलमानों के मसीहा के नाम से जाने जाते हैं तुर्की के राष्ट्रपती

इसके आलावा खुफिया विभाग ने जांच बड़ा दी है तथा किसी भी अनहोनी को रोकना उनकी सबसे बड़ी जिम्मेदारी बन गई है. यह संभावित हमले की जानकारी एर्डोगान के रविवार को बोस्निया और हर्जेगोविना की यात्रा से पहले सामने आई|इसके बाद तुर्की के उप प्रधान मंत्री बेकिर बोज्दाग ने अपने ट्विटर पेज पर लिखा हम जानते हैं कि कुछ ऐसी मंडलियां हैं जो इस बात से चिंतित हैं कि हमारे पास इतना मजबूत नेता है यही कारण है कि वे उसे मारना चाहते हैं. उन पर नियोजित हमलों के बारे में स्थायी रिपोर्टें हैं|

साथ ही उन्होंने लिखा हमारे राष्ट्रपति रसेप तय्यिप एर्दोगन ऐसे व्यक्ति नहीं हैं जो खतरों से डरेंगे और अपनी नीति बदल देंगे. जो लोगों यह बात अभी तक नहीं समझ सके वे मूर्ख हैं. बता दें कि 11 साल तक देश के प्रधान मंत्री के रूप सेवा देने के बाद 2014 में एर्डोगन तुर्की के राष्ट्रपति बने. अगले राष्ट्रपति चुनाव तुर्की में जून में होने वाले है|

Facebook Comments